Start Planning
गणतंत्र दिवस

गणतंत्र दिवस 2019 और 2020

गणतंत्र दिवस भारत के तीन राष्ट्रीय अवकाशों में से एक है और भारत के संविधान का पर्व है।

सालतारीखदिनछुट्टियांराज्य / केन्द्र शासित प्रदेश
201926 जनवरीशनिवारगणतंत्र दिवस राष्ट्रीय अवकाश
202026 जनवरीरविवारगणतंत्र दिवस राष्ट्रीय अवकाश

भारत में, गणतंत्र दिवस वर्ष के दौरान मनाए जाने वाले सबसे प्रसिद्ध उत्सवों में से एक है। यह विशेष उत्सव उस दिन की याद में मनाया जाता है जब भारत का संविधान लागू किया गया था। 26 जनवरी, 1950 में, भारत ने आधिकारिक रूप से अपने आपको एक स्वतंत्र राष्ट्र की मान्यता दी थी।

प्रत्येक वर्ष भारत में गणतंत्र दिवस के उपलक्ष्य में तीन दिन का समारोह होता है। अधिकांश समारोह देश की राजधानी नई दिल्ली में होते हैं, लेकिन भारत का प्रत्येक राज्य भी अपने खुद के समारोह आयोजित करता है।

गणतंत्र दिवस की परेड

गणतंत्र दिवस परेड तीन दिन के समारोह का सबसे प्रमुख कार्यक्रम है जो भारत के राष्ट्रपति के सामने नई दिल्ली के राजपथ (औपचारिक राजमार्ग) पर होता है। यह समारोह मनाने के लिए भारत के प्रत्येक राज्य ने ऐसा ही परेड आयोजित करना शुरू कर दिया है।

देश के लिए अपना जीवन बलिदान करने वाले सेना बलों के सभी जवानों को सम्मान देने के लिए प्रधानमंत्री द्वारा इंडिया गेट पर पुष्पांजलि अर्पण करने के साथ समारोह का प्रारंभ होता है। पुष्पांजलि के बाद, 21 तोपों की सलामी दी जाती है और राष्ट्रगान होता है। इसके बाद, साहस और वीरता के कार्यों के लिए सेना और जनता के कुछ सदस्यों को वीरता पुरस्कार प्रदान किये जाते हैं। यह पूरा होने के बाद, परेड शुरू होता है।

परेड एक भव्य आयोजन है और राष्ट्रपति के साथ परेड देखने के लिए किसी अन्य देश के प्रमुख को हमेशा आमंत्रित किया जाता है। परेड के दौरान सैन्य बल का प्रदर्शन किया जाता है साथ ही संपूर्ण भारतवर्ष की सांस्कृतिक झाँकियाँ भी निकाली जाती हैं।

परेड शुरू होने पर, सम्मान पुरस्कार पाने वाले व्यक्तियों को भारत में अपनी सेवा के लिए सलामी लेने के लिए राष्ट्रपति के सामने से ले जाया जाता है। उसी दौरान, हेलिकॉप्टर ब्रिगेड इंडिया गेट के ऊपर से उड़कर भीड़ के ऊपर गुलाब के पंखुड़ियों की वर्षा करती है। सेना के सदस्य परेड में चलते हैं, नृत्य मंडलियाँ नृत्य और संगीत प्रदर्शित करती हैं, और साथ ही, लड़ाकू विमान अपने पीछे झंडे के तीन रंगों के धुएं की पगडंडी बनाते हुए उड़ते हैं। सेना के जवानों के द्वारा मोटरसाइकिल पर किये जाने वाले साहसी करतबों के प्रदर्शन के साथ इस परेड का समापन होता है।

गणतंत्र दिवस के दौरान अन्य महत्वपूर्ण कार्यक्रम

परेड समाप्त होने के बाद, तीन दिन के समारोह के दौरान कई अन्य महत्वपूर्ण कार्यक्रम होते हैं। उनमें से कुछ निम्नलिखित हैं:

  • नई दिल्ली में प्रधानमंत्री की रैली जिसमें संगीत, नृत्य और मनोरंजन के अन्य स्वरुप शामिल होते हैं जो भारत की सांस्कृतिक महत्ता पर आधारित होते हैं।
  • लोक तरंग राष्ट्रीय नृत्य उत्सव। यह उत्सव 24 जनवरी को शुरू होता है और गणतंत्र दिवस के अंतिम दिन तक चलता है। इस समारोह में भारत के विभिन्न सांस्कृतिक नृत्यों का प्रदर्शन किया जाता है।
  • राज्यों के प्रदर्शन। गणतंत्र दिवस के समारोहों के दौरान भारत के प्रत्येक राज्य में सांस्कृतिक आधार पर अलग-अलग कार्यक्रम होते हैं। आमतौर पर, इनमें स्कूल के बच्चों, स्थानीय नृत्य मंडलियों और कलाकारों के प्रदर्शन शामिल किये जाते हैं।

भारत एक बहुत बड़ा और विविधतापूर्ण देश है। यहाँ विभिन्न सांस्कृतिक समूह और धर्म मौजूद हैं जो भारत को अपना घर कहते हैं। गणतंत्र दिवस का पर्व इस तथ्य को दर्शाने के लिए मनाया जाता है कि भारत चाहे कितना ही विविधतापूर्ण क्यों ना हो, यह अभी भी एक संगठित देश है और सभी संस्कृतियों एवं धर्मों में कुछ ना कुछ समानता मौजूद है।

Accept