Start Planning
गुरु रविदास जयंती

गुरु रविदास जयंती 2021 और 2022

उत्तर भारत में भारतीय गुरु रविदास के जन्मदिन का अवसर, एक सर्व प्रसिद्ध अवकाश का दिन होता है और दिए गए चार प्रदेशों में सार्वजनिक अवकाश के तौर पर मनाया जाता है।

सालतारीखदिनछुट्टियांराज्य / केन्द्र शासित प्रदेश
202127 फरवरीशनिवारगुरु रविदास जयंती CH, HP, HR & PB
202216 फरवरीबुधवारगुरु रविदास जयंती CH, HP, HR & PB

गुरु रविदास जयंती, हिन्दू पंचाग में माघ महीने की पूर्णिमा को पड़ती है, और दिए गए चार प्रदेशों में सार्वजनिक अवकाश मनाया जाता है। ग्रिगोरीअन कैलेंडर या पंचाग के अनुसार, यह सामान्यता फ़रवरी के महीने में पड़ती है।

रविदास एक आध्यात्मिक कवि और गीत लेखक थे जिनका जीवनकाल सन् 1400 और 1500 की अवधि के बीच रहा। उनका “भक्ति आन्दोलन”, जो की हिन्दू धर्म का एक “धार्मिक भक्तिपूर्ण” आन्दोलन था और जिसने बाद में नए सिख धर्म का रूप लिया था, पर बहुत गहरा प्रभाव था।

हालाँकि, उनकी शिक्षा ने इक्कीसवी सदी में, रविदास्सिया धर्म की भी ख़ोज करी, और ज़्यादातर रविदास्सिया के अनुयायी या प्रशंसक, गुरु रविदास जयंती मानते हैं और हर साल इस दिन छुट्टी लेते हैं। श्रद्धालु विभिन्न रस्मे पूरी करते हैं, उनके गीत और कविताएँ गाते हैं, गुरु रविदास की बड़ी तस्वीर लेकर परेड निकालते हैं और गंगा नदी में स्नान करते है। कुछ लोग तीर्थयात्रा करते हैं और रविदास को समर्पित मंदिर में जाते हैं और पूजा अर्चना करते हैं।